Advertisement

हफ्तेभर के भीतर यूपी में सड़क हादसों में 40 मजदूर गंवा चुके जान, औरेया के बाद एक और हुआ हादसा

हादसों की बात करें तो 12 घंटे के भीतर यूपी में तीन हादसे हुए जिसमें 32 लोगों की जानें चली गईं। वहीं एक हफ्ते के…

Advertisement
यूपी में 1 हफ्ते के भीतर अलग अलग सड़क हादसों में करीब 40 लोगों की मौत हो चुकी है।

कोरोना संकट में मजदूरों की जिंदगी जैसे राम भरोसे हो चली। पैदल चले तो मरे और किसी साधन के सहारे चले तो मरे। गांव पहुंचने के सफर पर निकले ये मजदूर एक के बाद एक हादसे के शिकार हो रहे हैं। 16 मई की सुबह ही उत्तर प्रदेश के औरेया में दो ट्रकों के आपस में टकराने से उनमें सवार 24 मजदूरों की मौत हो गई। जबकि 40 के आसपास लोग घायल हो गए हैं। इस हादसे की चीख पुकार अभी थमी नहीं थी कि यूपी के एक और हादसे में दंपती की मौत हो गई। रिपोर्ट के मुताबिक यह हादसा लखनऊ एक्सप्रेस-वे पर हुआ जहां एक टेंपों, ट्रक की चपेट में आ गया। हादसे में हरियाणा से दरभंगा(बिहार) जा रहे पति पत्नी की मौत हो गई। उनका 5 साल का मासूम बच्चा भी है।

वहीं औरेया हादसे को लेकर चश्मदीदों का कहना है कि हादसे के करीब दो घंटे बाद पुलिस मौके पर पहुंची। औरैया के जिलाधिकारी अभिषेक सिंह के मुताबिक पीछे से आ रहे ट्रक में राजस्थान से आ रहे कई मजदूर सवार थे। मरने वाले सभी मजदूर इसी ट्रक में सवार थे जबकि सड़क पर खड़े ट्रक में सवार लोग भी घायल हुए हैं। हादसे में घायलों को सैफई के मेडिकल कॉलेज भर्ती कराया गया जहां इलाज चल रहा है। घायलों में छह लोगों की स्थिति गंभीर बताई जा रही है।

Advertisement

राजस्थान से बिहार झारखंड जा रहे थे मजदूर

हादसे के शिकार हुए ज्यादातर मजदूर झारखंड के रहने वाले थे। वहीं कुछ को बिहार जाना था तो कुछ यूपी और पश्चिम बंगाल के रहने वाले थे। बता दें राजस्थान के भरतपुर से चले इस ट्रक में चूने की बोरियां भरी हुई थीं और उनके ऊपर करीब पचास मजदूर बैठे हुए थे।

Advertisement

आस पास के गांव तक पहुंची थी टक्कर की आवाज

हादसा इतना भयानक था कि दोनों ट्रकों की टक्कर की आवाज आस-पास के गांवों तक पहुंची थी। दोनों ही ट्रक उछलकर काफी दूर गड्ढे में जा गिरे थे।

Advertisement

12 घंटे के भीतर 32 की गई जान, हफ्तेभर में 40 मरे

हादसों की बात करें तो 12 घंटे के भीतर यूपी में तीन हादसे हुए जिसमें 32 लोगों की जानें चली गईं। वहीं एक हफ्ते के भीतर करीब 40 से ज्यादा लोग सड़क हादसे में अपनी जान गंवा चुके हैं। गौरतलब है कि 15 मई को ही अयोध्या हाईवे पर तेज रफ्तार एक वाहन ने पैदल जा रहे 11 श्रमिकों को रौंद दिया था। हादसे में पांच लोगों की मौत हो गई थी। वहीं 14 मई की देर रात यूपी के जालौन और बहराइच में दो अलग-अलग सड़क दुर्घटनाओं में तीन प्रवासी मजदूरों की मौत होगई जबकि दर्जनों लोग घायल हो गए।

Advertisement

जबकि 13 और 14 मई को तीन अलग-अलग सड़क हादसों में 15 मजदूरों की मौत हो गई है। इनमें से कई घायलों का इलाज अभी भी चल रहा है। इसके अलावा मध्य प्रदेश में बस की टक्कर से ट्रक में सवार आठ प्रवासी श्रमिकों की मौत हो गई थी।

औरंगाबाद में 16 लोगों की मौत हुई थी
औरंगाबाद की घटना किसे याद नहीं होगी। पिछले हफ्ते ही महाराष्ट्र के औरंगाबाद में एक मालगाड़ी की चपेट में आने से रेल पटरियों पर सो रहे 16 प्रवासी मजदूरों की मौत हो गई थी। सभी प्रवासी मजदूर अपने गृहराज्य मध्य प्रदेश लौटने के लिए श्रमिक विशेष ट्रेन में सवार होने के लिए महाराष्ट्र के जालना से भुसावल जा रहे थे। रास्ते में थकान के कारण वे रेल पटरियों पर ही सो गए थे।

Advertisement

वहीं उत्तर प्रदेश के पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने मजदूरों की मौत पर बीजेपी सरकार को घेरते हुए मृतकों को 10 लाख रुपए की राशि प्रदान करने की बात कही। अखिलेश यादव ने कहा,

घर लौट रहे प्रवासी मज़दूरों के मारे जाने की ख़बरें दिल दहलानेवाली हैं। मूलत: ये वो लोग हैं जो घर चलाते थे। इसलिए समाजवादी पार्टी प्रदेश के प्रत्येक मृतक के परिवार को 1 लाख रु की मदद पहुँचाएगी। नैतिक ज़िम्मेदारी लेते हुए निष्ठुर भाजपा सरकार भी प्रति मृतक 10 लाख रु की राशि दे.

Advertisement

Advertisement
ख़बर खर्ची

Share

Recent Posts

बीजेपी के कुलदीप यादव ने किसान नेता राकेश टिकैत पर किया हमला

शुरुआती जानकारी के मुताबिक यह हमला अलवर जिले में हुआ है और टिकैत की कार…

2 days ago

असम चुनावः बीजेपी प्रत्याशी की कार में मिली EVM मशीन, वीडियो वारयल

यह कार असम के पथरकंडी विधानसभा सीट के बीजेपी उम्मीदवार कृष्‍णेंदु पॉल की बताई जा…

2 days ago

UPCET 2021 : एनटीए यूपीसीईटी परीक्षा के लिए रजिस्ट्रेशन शुरू, इस तारीख को होगा Exam, देखें पूरा शे़ड्यूल

यूपीसीईटी परीक्षा 2021 में 18 मई को आयोजित की जाएगी। जो उम्मीदवार यूपीसीईटी परीक्षा 2021…

2 days ago

देशभर में ट्रक मालिक कलेक्टर को सौंपेंगे चाबी, इस वजह से लिया फैसला

नाराज ट्रक मालिकों ने सरकार को चेतावनी दी है कि वह पेट्रोल-डीजल की कीमतों पर…

2 months ago

कौन सा चैनल किसके इशारे पर काम कर रहा है?, किसानों ने टीवी एंकरों की बताई हकीकत; देखिए

किसानों से जब चैनल ने उनके मुद्दे उठाने, उनकी बात करने वाले चैनलों के बारे…

3 months ago

किसानों ने बनाया अजूबा टॉयलेट, पानी की एक भी बूंद का नहीं होता इस्तेमाल

सहज ने बताया कि इस डीकंपोस्ट टॉयलेट की वजह से रोजाना हजार लीटर पानी की…

3 months ago