Advertisement

किसान आंदोलन पर सवाल उठाने वाली ‘गोदी मीडिया’ पर भड़के यूजर्स, ऐसे दिए रिएक्शन

अगर आप अपने अधिकारों के लिए विरोध नहीं कर सकते तो नए भारत में आपका स्वागत है। मोदी के शासन वाले भारत में।

Advertisement
किसान आंदोलन पर सवाल उठाने वाली ‘गोदी मीडिया’ पर भड़के यूजर्स

कोरोनाकाल में केंद्र सरकार द्वारा लाए कृषि बिल को लेकर देशभर के किसान गुस्से में हैं। पंजाब, हरियाणा के किसान सहित यूपी के किसान दिल्ली कूच कर रहे हैं। इसी को देखते हुए केंद्र सरकार ने दिल्ली के सभी सीमाओं को बंद कर सुरक्षा बढ़ा दी है। सिंधु बॉर्डर पर किसानों और पुलिस के बीच भिड़ंत हुई है, यहां पुलिस ने आंसू गैस के गोले छोड़े हैं। अब इस प्रदर्शन का असर उत्तर प्रदेश में दिखने लगा है और मेरठ-मुजफ्फनगर में हाइवे जाम किया गया है।

किसानों के इस आंदोलन को लेकर कई मीडिया चैनल्स इस पर सवाल उठा रहे हैं और इस खालिस्तान द्वारा प्रायोजित बता रहे हैं। देश के अन्नदाता के हक को लेकर मीडिया के इस रवैए पर सोशल मीडिया यूजर्स काफी नाराजगी जाहिर कर रहे हैं। वे मीडिया को गोदी मीडिया संबोधित कर रहे हैं, और सरकार द्वारा बिका हुआ बता रहे हैं।

Advertisement

एक यूजर ने लिखा, दल्लों शर्म आनी चाहिए! मीडिया में मैं कई ऐसे लोगों को जानता हूं जो नैतिकता और पत्रकारिता के सिद्धांत को जीवित रखने के लिए लड़ रहे हैं और उनकी वजह से मैं आप पर पूर्ण हमले नहीं करना चहता हूं! मैं अपने आप को बैंकर्स के मुद्दे पर नियंत्रित किया हुआ था, लेकिन इस पर नहीं करने वाला! क्योंकि इससे मेरा देश प्रभावित होगा।

अगर आप अपने अधिकारों के लिए विरोध नहीं कर सकते तो नए भारत में आपका स्वागत है। मोदी के शासन वाले भारत में।

Advertisement

क्या हमें ऐसी पत्रकारिता की जरूरत है?
या क्या हमें इन्हें पत्रकार कहना चाहिए??

एक यूजर ने लिखा, AIKSCC और किसान मोर्चा ने पीएम मोदी को पत्र भेजकर उन्हें दिल्ली आने और उनके प्रतिनिधि से बातचीत करने को कहा है।

Advertisement

सभी लोग कहते हैं कि किसान हमारे देश की ताकत है। लेकिन अगर ताकत क्षीण होगी तो देश ढह जाएगा। एक किसान का बेटा होने के नाते इसकी कड़ी निंदा करता हूं।

एक यूजर ने मीडिया के सवाल उठाने पर कहा, जिहादी, खलिस्तानी, मिशनरी, अर्बन नक्सल और देशद्रोही। इसके इतर बीजेपी किसानों के लिए क्या प्रयोग करेगी? भारतीय मीडिया लोगों की दुश्मन है।

Advertisement

अमनदीप नाम के यूजर ने आजतक पर हमला बोलते हुए लिखा, शर्म है आजतक। तुम मोदी सरकार में बिक चुके हो। तुम किसानों के साथ नहीं हो। बिहार में जब बीजेपी रैली कर रही थी तुम बिना रुके दिखा रहे थे। और अब किसानों की खबर दिखाने के लिए आप जो अनलिमिटेड ब्रेक ले रहे हैं। बहुत शर्म की बात है।

जब मुस्लिम विरोध जताए तो वह बीजेपी के खिलाफ है। वे पाकिस्तान द्वारा फंडेड होते हैं। और जब हरियाणा और पंजाब के किसान प्रोटेस्ट करें तो वे खलिस्तान द्वारा उकसाए गए हैं! भाड़ में जाओ राष्ट्रीय गोदी मीडिया। ट्टू सरकार की तारीफ करते नहीं थकते।

Advertisement

किसानों के आक्रोश को देखते हुए पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने केंद्र सरकार से अपील की है कि वो किसानों से तुरंत बात करे और प्रदर्शन को रोके। अमरिंदर ने कहा कि किसानों की आवाज को दबाया नहीं जा सकता है, सरकार तीन दिसंबर तक क्यों इंतजार कर रही है।

Advertisement
ख़बर खर्ची

Share

Recent Posts

महाविद्रोही राहुल सांकृत्यायन की जयंती पर पढ़िए उनके बेहतरीन उद्धरण

आज विद्राेही राहुल सांकृत्यायन का जन्मदिवस है। राहुल सांकृत्यायन सच्चे अर्थों में जनता के लेखक…

1 day ago

वाराणसी: 11वीं के छात्र ने बनाया अजूबा बैग, कोरोना सुरक्षा से लेकर गुमशुदगी तक का करेगा रिपोर्ट

वाराणसी के आर्यन इंटरनेशनल स्कूल में पढ़ने वाले पुष्कर ने बताया कि, "कोरोना के बढ़…

1 day ago

अमित शाह अपने आप में एक देश बन गए हैं जिन पर कोरोना के क़ानून लागू नहीं होतेः रवीश कुमार

क्या चुनाव आयोग अमित शाह पर कार्रवाई कर सकता है? इस सवाल को पूछ कर…

2 days ago

हिंदी मीडियम वाले गांव के लड़कों के लिए बॉलीवुड की राह आसान नहीं, पंकज त्रिपाठी ने बयां किया दर्द

पंकज त्रिपाठी ने कहा कि इंडस्‍ट्री में आउटसाइडर्स की सफलता की राह इतनी आसान नहीं…

2 days ago

समर्थकों के साथ खेत में भागी TMC उम्मीदवार सुजाता खान, गांववालों ने लाठी लेकर दौड़ाया

तीसरे चरण के मतदान के दिन आरामबाग से टीएमएसी उम्मीदवार सुजाता मंडल खान पोलिंग बुथ…

3 days ago

तलाक के बाद अपना घर नहीं बसाईं सितारों की ये पूर्व पत्नियां, दोबारा शादी से किया तौबा

बॉलीवुड स्टार कबीर बेदी (Kabir Bedi) ने अपनी जिंदगी में 3 बार शादियां की। कबीर…

3 days ago