TikTok ban: ऐप्प बैन होने पर क्या बोले टिक टॉक के स्टार्स, चीन को लेकर कही ये बात | ख़बर खर्ची

TikTok ban: ऐप्प बैन होने पर क्या बोले टिक टॉक के स्टार्स, चीन को लेकर कही ये बात

tiktok app, tiktok apk, tiktok login, tiktok videos, tiktok tiktok, tiktok download, tiktok owner, tiktok app online, tiktok ban, Users,App,TikTok,India,ChinaLatest News ,ChinaLatest News ,App Banned India, TikTok Statistics, TikTok, TikTok users
भारत में टिकटॉक के 20 करोड़ से अधिक उपयोगकर्ता हैं।

भारत में टिकटॉक पर प्रतिबंध के बाद इसको सही और गलत ठहराने का लेकर शुरू हुई बहस के बीच कुछ ‘टिकटॉक इन्फ्लुएंसर’ का कहना है कि अगर प्रतिभा है तो मंच मायने नहीं रखता।

टिकटॉक छोटी वीडियो बनाने का एक मंच है, जिस पर वीडियो डालने वालों को ‘टिकटॉक इन्फ्लुएंसर’ कहा जाता है। सरकार ने सोमवार को टिकटॉक सहित 59 चीनी ऐप पर प्रतिबंध लगा दिया। इन्हीं में से एक निहारिका जैन को भी टिकटॉक पर प्रतिबंध पर कोई आपत्ति नहीं है। जैन के टिकटॉक पर 28 लाख प्रशंसक (फॉलोअर्स) हैं और वह एक महीने में 30 हजार रुपये तक कमा लेती हैं।

Advertisement

जैन ने कहा कि यह प्रतिभा की बात है और वह इसके लिए दूसरे मंच का इस्तेमाल कर सकती हैं। उन्होंने कहा कि हम ‘कंटेंट क्रिएटर’ हैं और हमारी प्रतिभा ने हमें लोकप्रिय बनाया है। अगर टिकटॉक नहीं तो, मैं अपनी प्रतिभा दिखाने के लिए दूसरे मंच का इस्तेमाल कर सकती हूं।

उन्होंने कहा कि वह सरकार के इस कदम को पूरी तरह समझती हैं और इसके लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का पूरा समर्थन करती हैं। इसी तरह फरीदाबाद के 23 वर्षीय सुकृत जैन का ‘द ग्रेट इंडियन फूडी’ नाम से टिकटॉक पर अकाउंट है और उन्हें भी सरकार के प्रतिबंध के फैसले से कोई परेशानी नहीं है।

Advertisement

सुकृत जैन ने कहा कि टिकटॉक पर प्रतिबंध लगने से क्या होता है। इससे अच्छी सामग्री (कंटेंट) बनना कभी बंद नहीं होगी। उन्होंने कहा कि हमारी प्रतिभा हमें यहां तक लाई है और मुझे यकीन है अगर यह मंच नहीं तो कहीं और लेकिन निश्चित ही हमें फिर पहचान मिलेगी।

सुकृत ने यूट्यूब और इंस्टाग्राम की ओर रुख करना शुरू कर दिया है। भाजपा नेता सोनाली फोगाट के लिए टिकटॉक भले ही आय का जरिया ना हो लेकिन वह लगातार उस पर अपने नृत्य के वीडियो डालती रहती थीं। उनके इस मंच पर 2,80,000 प्रशंसक हैं।

Advertisement

सरकार के इस फैसले के बाद फोगाट ने कहा, टिकटॉक पर आने से यकीनन मेरे राजनीतिक करियर को आगे बढ़ाने में मदद मिली। मुझे अपने वीडियो के जरिए अधिक लोगों तक पहुंचने का मौका मिला।’’

सोनाली फोगाट ने कहा कि मैं सरकार के निर्णय के साथ हूं क्योंकि इन चीनी ऐप और अन्य चीनी उत्पादों के जरिए भारत का करोड़ों रुपया चीन जाता है। उन्होंने हमसे आर्थिक फायदा उठाया और अब उन संसाधनों का उपयोग कर हमारे सैनिकों पर हमला कर दिया। फोगाट ने कहा, ‘‘ हम अन्य ऐप का इस्तेमाल भी कर सकते हैं। मैं इंस्टाग्राम, फेसबुक और ट्विटर पर भी सक्रिय हूं। लेकिन सबसे अच्छा होगी की हमारे पास भारतीय ऐप हो। हम दूसरों पर निर्भर क्यों रहें जब हमारे पास शिक्षित और योग्य युवा हैं।’’

Advertisement

चीनी ऐप पर यह प्रतिबंध लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा पर चीनी सैनिकों के साथ मौजूदा गतिरोध के बीच लगाया गया है । भारत में टिकटॉक के 20 करोड़ से अधिक उपयोगकर्ता हैं।

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

x