Advertisement

RIMS MBBS Exam 2021: लॉकडाउन के कारण इस तारीख से ऑफलाइन होगी एमबीबीएस की परीक्षा, जानें और डिटेल

कोरोना को देखते हुए यह परीक्षा ऑफलाइन होगी जिसमें करीब 150 परीक्षार्थी भाग लेंगे। इसके लिए विश्वविद्यालय प्रशासन संशोधित परीक्षा कार्यक्रम जारी करेगा।

Advertisement
RIMS MBBS Exam 2021:कोरोना को देखते हुए यह परीक्षा ऑफलाइन होगी जिसमें करीब 150 परीक्षार्थी भाग लेंगे।

कब होगी MBBS रिम्स की परीक्षा: लॉकडाउन के कारण रिम्स एमबीबीएस की परीक्षा अब 1 जून 2021 से होगी। यह परीक्षा ऑफलाइन मोड में आयोजित की जाएगी। पहले यह परीक्षा 3 मई से होनी थी, लेकिन कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए प्रस्तावित तिथि को परीक्षा का आयोजन नहीं किया गया।


इस संबंध में आरयू प्रशासन ने रिम्स के निदेशक से परीक्षा तिथि प्रस्तावित करने को कहा था। रिम्स के निदेशक ने जून में परीक्षा आयोजित करने की अनुशंसा की। सोमवार को विश्वविद्यालय की कोविड सेल की वर्चुअल बैठक में फैसला लिया गया कि 3 मई को जो परीक्षा होनी थी अब वह 1 जून को होगी।

Advertisement

ऑफलाइन होगी RIMS MBBS की परीक्षा
कोरोना को देखते हुए यह परीक्षा ऑफलाइन होगी जिसमें करीब 150 परीक्षार्थी भाग लेंगे। इसके लिए विश्वविद्यालय प्रशासन संशोधित परीक्षा कार्यक्रम जारी करेगा। बैठक में यह भी फैसला लिया गया है कि जो विद्यार्थी एमबीबीएस थर्ड प्रोफेशनल पार्ट-1 की परीक्षा में उत्तीर्ण हुए हैं वे भी पार्ट-2 की परीक्षा में बैठ सकेंगे। परीक्षा फॉर्म भरने की तिथि जल्द जारी की जाएगी। वहीं विश्वविद्यालय एमडी/एमएस की भी ऑफलाइन परीक्षा 1 जून को आयोजित करेगा। नर्सिंग की परीक्षाएं भी प्राथमिकता के आधार पर आयोजित की जाएंगी।

एमबीबीएस थर्ड प्रोफेशनल पार्ट-2 की परीक्षा शुरू होगी

Advertisement

विश्वविद्यालय के स्नातक सत्र 2020-23 और स्नातकोत्तर सत्र 2020-22 की सेमेस्टर परीक्षा मई नें ऑनलाइन आयोजित की जाएगी। इसके लिए विश्वविद्यालय के ईडीपीसी निदेशक को 5 मई तक इन सत्रों के सभी छात्रों का क्रंमाक के अनुसार पेमेंट गेटवे संबंधित कॉलेजों के प्राचार्यों को उपलब्ध कराने के लिए कहा गया है। इसके बाद स्नातक सेमेस्टर-2 और सेमेस्टर-4 की परीक्षा ली जाएगी। सभी कॉलेजों को प्राचार्यों के निर्देश दिया गया है कि इन परीक्षा का आयोजन कर 30 मई तक विद्यार्थियों के प्राप्तांक परीक्षा विभाग को उपलब्ध करा दें। साथ ही डीएसडब्ल्यू को स्नातक सत्र 2020-23 और स्नाकोत्तर सत्र 2020-22 के सभी संकाय के विद्यार्थियों का रजिस्ट्रेशन एक्सेल शीट में ईडीपीसी को जमा करने को कहा गया है। इसके बाद विद्यार्थियों का परीक्षा फॉर्म जारी होगा और उनकी मिड सेम की परीक्षा हो सकेगी। कोविड सेल की अगली बैठक 7 मई को होगी। जिसमें परीक्षा और अन्य अकादमिक मामलों पर आगे की रणनीति तैयार की जाएगी।

एमबीबीएस अंतिम वर्ष के छात्र को कोविड ड्यूटी में लगाया जाएगा

Advertisement

पीएमओ ऑफिस की तरफ से जारी बयान के मुताबिक एमबीबीएस अंतिम वर्ष के छात्रों को फैकल्टी की देखरेख में टेलीकंस्लटेशन और हल्के कोविड मामलों की निगरानी के लिए उपयोग किया जा सकता है. सीनियर डॉक्टर्स और नर्सों की देखरेख में बीएससी / जीएनएम की योग्य नर्सों का पूर्णकालिक कॉविड नर्सिंग में उपयोग किया जाएगा.

Advertisement
ख़बर खर्ची

Share

Recent Posts

Petrol, Diesel Prices: फिर बढ़े वाहन ईंधन के दाम, मुंबई में डीजल का शतक

मुंबई में अब डीजल 100.29 (Petrol, Diesel Prices At All-Time Highs. Diesel Crosses ₹ 100-Mark…

20 hours ago

बसपा की सरकार बनी तो बदले की भावना से रोकी नहीं जाएंगी केंद्र व राज्य की योजनाएं: मायावती

बसपा के संस्थापक कांशीराम के 15वें परिनिर्वाण दिवस पर कांशीराम स्मारक स्थल पर आयोजित श्रद्धांजलि…

20 hours ago

सिसोदिया का वादाः यूपी में आप सरकार आई तो शिक्षा का बजट बढ़ाकर 25 प्रतिशत किया जाएगा

सिसोदिया का वादाः यूपी में आप सरकार आई तो शिक्षा का बजट बढ़ाकर 25 प्रतिशत…

1 week ago

‘जल्द ही कांग्रेस में आतंकवादियों को शामिल होते देखेंगे’, कन्हैया कुमार के पार्टी जॉइन करने पर बोले फिल्ममेकर

कांग्रेस में शामिल होने के बाद कन्हैया कुमार ने दावा किया कि कांग्रेस ही महात्मा…

2 weeks ago