राकेश रोशन की सलाह नहीं मानने पर ऋषि कूपर की हो गई थी ऐसी हालत, बताया किस्सा | ख़बर खर्ची

राकेश रोशन की सलाह नहीं मानने पर ऋषि कूपर की हो गई थी ऐसी हालत, बताया किस्सा

Rishi Kapoor, Rakesh Roshan, Rishi kapoor in delhi, ऋषि कपूर निधन, राकेश रोशन, कैंसर, दिल्ली, ऋषि राकेश, राकेश चेतावनी, rishi kapoor admitted in delhi, rakesh roshan on roshi kapoor, rakesh kapoor is lonely, rishi kapoor death, rakesh warning,
राकेश रोशन और ऋषि कपूर अच्छे दोस्त थे।

बॉलीवुड एक्टर ऋषि कपूर 67 साल की उम्र में अलविदा कह गए। उनके निधन के बाद पूरी फिल्म इंडस्ट्री आज सदमे में हैं। ऋषि कपूर के करीबी और खास दोस्त राकेश रोशन ने बॉलीवुड हंगामा को दिए इंटरव्यू में बताया कि ऋषि कपूर के निधन की खबर सुन फोन पर ही रोने लगे थे जिसके बाद रणबीर कपूर ने उन्हें संभाला था।

Advertisement

राकेश रोशन और ऋषि कपूर एक अच्छे दोस्त थे। दोनों को ही साल 2018 में कैंसर का पता चला था। राकेश रोशन ने बताया कि फरवरी में ऋषि कपूर एक शादी अटेंड करने दिल्ली गए थे और वहीं से उनकी दिक्कतें शुरू हो गई थीं। उस शादी में ऋषि कपूर को जाने से राकेश रोशन ने मना किया था क्योंकि कैंसर के कारण दिल्ली में प्रदूषण से इंफेक्शन होने का खतरा था। लेकिन ऋषि कपूर नहीं माने। हुआ भी ऐसा। ऋषि कपूर की उस शादी के फंक्शन में ही तबीयत ज्यादा खराब हो गई जिसके बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती भी कराना पड़ा था।

राकेश रोशन ने बताया कि, ‘हम दोनों को कैंसर था, हालांकि अलग-अलग तरह का था। मुझे पता है कि हम दोनों इंफेक्शन प्रोन हैं। इसलिए जब चिंटू ने मुझे फरवरी में एक शादी में दिल्ली जाने के बारे में बताया तो मैंने उसे वहां नहीं जाने की सलाह दी थी। लेकिन वो फिर भी चले गए और वहां से दिक्कत शुरू हो गई।

Advertisement

राकेश रोशन के मुताबिक जब ऋषि कपूर से शादी में से लौटने के बाद मुलाकात हुई तो उन्होंने (ऋषि) स्वीकार किया कि उन्हें नहीं जाना चाहिए था। और दिल्ली जाकर गलती कर दी। अब ऋषि कपूर के बिना राकेश रोशन खुद का काफी अकेला महसूस कर रहे हैं। वे कहते हैं ऋषि के बारे में जब जानकारी मिलते ही मैं टूट गया। मैं अब बिना दोस्त का हो गया हूं। ऋषि यारों का यार था। मेरा यार यूं चला जाएगा, मैंने कभी नहीं सोचा था।

राकेश रोशन आगे बताया कि मुझे पता था कि आखिरी शाम से उनकी तबीयत ज्यादा खराब थी, लेकिन मैं क्या कर सकता था? हम ऐसे निराशाजनक समय में जी रहे हैं। मैं वास्तव में आज अकेला महसूस कर रहा हूं।

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

x

Subscribe Now

You have successfully subscribed to the newsletter

There was an error while trying to send your request. Please try again.

ख़बर खर्ची will use the information you provide on this form to be in touch with you and to provide updates and marketing.