Advertisement

फुटपाथ पर बैठे प्रवासी मजदूरों से मिले राहुल गांधी, घर भेजने के लिए गाड़ियों का किया इंतजाम

दिल्ली के सुखदेव विहार फ्लाइओवर के पास फुटपाथ पर बैठे मजदूरों से कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष ने लगभग एक घंटे तक उनका हालचाल लिया।

Advertisement

कोरोना संकट और लॉकडाउन के बीच भूख और आर्थिक परेशानियों से गुजर रहे प्रवासी मजदूरों से राहुल गांधी ने मुलाकात की। दिल्ली के सुखदेव विहार फ्लाइओवर के पास फुटपाथ पर बैठे मजदूरों से कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष ने लगभग एक घंटे तक उनका हालचाल लिया। समाचार एजेंसी ANI के मुताबिक देवेंद्र नाम के एक मजदूर ने बताया कि राहुल गांधी हमसे आधे घंटे पहले मिले। हम हरियाणा से पैदल आए हैं, उन्होंने हमें गाड़ी उपलब्ध कराई, उन्होंने कहा कि ये गाड़ी हमें हमारे घरों तक छोड़ देगा। उन्होंने हमें भोजन, पानी और मास्क भी दिया। वहीं हरियाणा से झांसी जा रहे मोनू नाम के मजदूर ने एएनआई से कहा, “राहुल गांधी फ्लाईओवर के पास जा रहे मजदूरों से मिले। उनकी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने बाद में मजदूरों को गांव-घर ले जाने के लिए गाड़ी का बंदोबस्त भी किया।”

कांग्रेस ने लगाया आरोप- मजदूरों को हिरासत में लिया गया

Advertisement

उधर, जिन मजदूरों से राहुल गांधी मिले पुलिस द्वारा उनको गिरफ्तार किए जाने का आरोप लगाया। दिल्ली कांग्रेस से जुड़े अनिल चौधरी ने दावा किया कि हमें पता लगा कि मजदूरों को हिरासत में ले लिया या है। राहुल आए और उनसे मिले। हमने पुलिस से बात की, जिसके बाद दो लोगों को एक साथ जाने की अनुमति दी गई। हमारे वॉलंटियर्स प्रवासी मजदूरों को अब घर छोड़ने जा रहे हैं। हम दो-दो लोगों को साथ भिजवा रहे हैं। हालांकि समाचार एजेंसी एएनआई ने सूत्रों के हवाले से बताया मजदूरों को पकड़े जाने की बात गलत है। वे अभी भी वहीं हैं। कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने उन्हें वाहन मुहैया कराने की बात कही थीं, पर नियमों के मुताबिक उन्हें एक साथ नहीं जाने दिया जा सकता है। ऐसा इसलिए, क्योंकि वे बड़े समूह में हैं।

वहीं इससे पहले मजदूरों से मिलने के पहले राहुल गांधी ने वीडियो लिंक के जरिए प्रेस कॉन्फ्रेंस और सरकार के 20 लाख करोड़ के राहत पैकेज, मजदूरों की समस्या सहित देश के आर्थिक हालात पर काफी कुछ कहा।

Advertisement

आने वाला है आर्थिक तूफान

कोरोना संकट के मद्देनजर उन्होंने कहा कि देश में आर्थिक तूफान अभी आया नहीं है लेकिन आने वाला है। और इसका जबर्दस्त नुकसान होने वाला है। हम चाहते हैं कि सरकार हमारी सुने। हम यानी विपक्ष थोड़ा दबाव डाले और अच्छी तरह से समझाए तो सरकार सुन भी लेगी।

Advertisement

बिना सोचे समझे ना खोलें लॉकडाउन
राहुल गांधी ने लॉकडाउन पर केंद्र सरकार को समझदारी से कदम उठाने को लेकर कहा कि बिना सोचे समझे अगर लॉकडाउन खोला गया तो इसका काफी नुकसान होगा। लॉकडाउन को खोलने की बात हो रही है तो लोगों की सुरक्षा का ध्यान रखते हुए फैसला करना चाहिए।

मनरेगा के तहत 200 दिन का रोजगार मिले

Advertisement

मजदूरों और आर्थिक पैकेज पर राहुल गांधी ने कहा कि वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से गुजारिश करेंगे कि इस पैकेज के बारे में दोबारा से सोचें। और मनरेगा के तहत 200 दिन के रोजगार गारंटी सहित उन्हें डायरेक्ट बैंक ट्रांसफर पर विचार करना चाहिए।

लोगों की सुरक्षा की जिम्मेदारी हमारी
लॉकडाउन के बीच सड़कों पर मारे मारे फिर रहे मजदूरों की चिंता करते हुए राहुल गांधी ने कहा कि यह वक्त किसी पर दोष मढ़ने का नहीं है। देश के सामने बड़ी समस्या है जिसका हमें हल निकालना है। मजदूरों की बात बहुत ही चुनौतीपूर्ण है। जो लोग सड़कों पर हैं उनकी मदद करना और उनकी सुरक्षा करना हमारी जिम्मेदारी है।

Advertisement
ख़बर खर्ची

Share

Recent Posts

VIDEO: हरियाणा में सतह से 5 फीट उपर उठने लगी पानी से भरे खेत की जमीन, मंजर देख हैरान हुए लोग

जमीन उठने की यह घटना 15 जुलाई को करनाल जिले के गांव कुछपुरा की है।…

9 hours ago

दैनिक भास्कर ने बताया- किस लिए हुई छापेमारी, दिग्विजय बोले- पत्रकारिता पर मोदी-शाह का प्रहार

दैनिक भास्कर समूह की मूल कंपनी ‘डी बी कॉर्प लिमिटेड’ की वेबसाइट पर उपलब्ध सूचना…

1 day ago

वाराणसी: PM मोदी ने 1583 करोड़ रुपये से अधिक की परियोजनाओं का उद्घाटन, शिलान्यास किया

प्रधानमंत्री ने लगभग 839 करोड़ रुपये की लागत की कई परियोजनाओं और सार्वजनिक कार्यों की…

1 week ago

दिलीप कुमार के बारे में वो बातें जो आप नहीं जानते हैं!

ट्रेज़डी किंग के नाम से मशहूर दिलीप कुमार का 98 साल की उम्र में निधन…

2 weeks ago

ऑक्सीजन पर विवाद: दिल्ली सीएम केजरीवाल ने विरोधियों को दे डाली नसीहत- मिलकर लड़ेंगे तो…

केजरीवाल ने ट्वीट किया, ‘‘ऑक्सीजन पर आपका झगड़ा खत्म हो गया हो तो थोड़ा काम…

4 weeks ago