चोरी कबुलवाने के लिए थानेदार ने चोर के प्राइवेट पार्ट में लगाया करंट, अस्पताल में भर्ती

crime news jharkhand, crime in palamu, crime news in hindi, crime news today, crime news world, crime news india, crime news ranchi
crime news palamu jharkhand, the crime news today, a crime story news, crime news bihar
crime news daily, crime news dhanbad, चोरी कबुलवाने के लिए थानेदार ने चोर के प्राइवेट पार्ट में लगाया करंट, अस्पताल में भर्ती
आरोपी का इलाज जिला अस्पताल में डॉ. आर के रंजन ने किया और उन्होंने गुप्तांग में गंभीर चोट की पुष्टि भी की है।

पलामू जिले में चोरी के मामले में हिरासत में लिए गए एक व्यक्ति ने जुर्म कबुलवाने के लिये चैनपुर थाने के थानेदार द्वारा प्राइवेट पार्ट में बिजली का करंट प्रवाहित करने का आरोप लगाया। यह मामला सामने आने के बाद रविवार को लोग इसके विरोध में सड़क पर उतर आए और जाम लगा दिया। वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों ने मामले में जांच के आदेश दिये हैं। पलामू के पुलिस अधीक्षक संजीव कुमार के मुताबिक चैनपुर थाने से इस प्रकार की शिकायत आयी है जिसमें थानेदार सुमित कुमार पर आरोपी के गुप्तांग में बिजली का करंट प्रवाहित कर उसे प्रताड़ित करने का आरोप है।

संजीव कुमार ने कहा कि इसकी जांच के निर्देश मेदिनीनगर के अनुमंडल पुलिस अधिकारी संदीप कुमार गुप्ता को दिये गये हैं और आरोप सही होने पर कड़ी कार्रवाई की जायेगी। इस घटना से उत्तेजित लोगों ने मेदिनीनगर-गढ़वा मार्ग को चैनपुर थाना क्षेत्र के शाहपुर में जाम कर दिया। जाम करीब तीन घंटे तक रहा जिससे दोनों तरफ करीब ढ़ाई सौ गाड़ियां जाम में फंसी रहीं।

Advertisement

इस अप्रत्याशित विरोध को देखते हुए पुलिस अधिकारी संदीप कुमार गुप्ता मौके पर पहुंचे और लोगों को जांच कर कार्रवाई का भरोसा दिलाया। इसके बाद मार्ग खुल सका। घटनाक्रम के बारे में पुलिस सूत्रों ने बताया कि गत आठ अक्टूबर की शाम को चैनपुर थाना क्षेत्र के सोनपुरवा गांव के आरोपी को चोरी के संदेह में गिरफ्तार किया गया था और पूछताछ के लिए हिरासत में रखा गया था। हिरासत के दौरान उसकी कथित तौर पर उसकी पिटाई की गई और गुप्तांगों में करंट प्रवाहित किया गया।

आरोपी का इलाज जिला अस्पताल में डॉ. आर के रंजन ने किया और उन्होंने गुप्तांग में गंभीर चोट की पुष्टि भी की है। आरोपी ने इस पूरे मामले की जानकारी एसपी समेत आला अधिकारियों की दी जिसके बाद मामले में जांच के आदेश दिये गए। दूसरी तरफ थानेदार ने बताया कि आरोपी के चाचा के घर में चार अक्तूबर को चोरी हुई थी और इसके लिए उन्होंने अपने भतीजे पर ही शक जताया था। इसी छानबीन के लिए उसे हिरासत में रखकर पूछताछ की गई।

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

x