ताजा रुझान में NDA को बढ़त के बाद तेजस्वी आवास के बाहर टोटका | ख़बर खर्ची

ताजा रुझान में NDA को बढ़त के बाद तेजस्वी आवास के बाहर टोटका

election, bihar chunav result 2020, election result, elections result, election results, election results live, bihar election, bihar election 2020, bihar election result, bihar chunav result, bihar election commission live, bihar election result 2020, bihar election result live, bihar election, bihar election result, bihar election result 2020, Bihar election result live, bihar election commission, live bihar election
बिहार चुनाव का रुझान जारी हैं।

बिहार में हुए विधानसभा चुनाव के रुझाने में बड़ा उलटफेर होता दिख रहा है। सुबह के वक्त जहां महागठबंधन रुझानों में बढ़त बनाई हुई थी वहीं 11 बजे के बाद से आंकड़ों में उलटफेर होता दिख रहा है। ताजा रुझान के मुताबिक NDA बढ़त बनाई हुई है। और बहुमत के करीब दिख रही है वहीं महागठबंधन+ 109 सीटों पर हैं। ऐसे में आरजेटी के कार्यकर्ता तेजस्वी यादव के आवास के बाहर टोटका करते दिखे।

तेजस्वी यादव के कुछ समर्थक मछली लेकर भी पहुंचे हैं। बड़ी-बड़ी मछलियों को वह अपनी गाड़ियों में लेकर राबड़ी आवास के बाहर खड़े हैं। समर्थकों का मानना है कि मछली को शुभ माना जाता है। ऐसे में समर्थक आवास के बाहर मछली लेकर डंटे हुए हैं। एक तरीके से समर्थक मछली के जरिए लालू के समर्थक टोटका कर रहे हैं। समर्थक कह रहे हैं कि मछली विष्णु का अवतार है।

Advertisement

बहुमत के लिए कितने चाहिए नंबर: बिहार में कुल 243 विस सीटें हैं। ऐसे में किसी भी पार्टी को सरकार बनाने के लिए 122 का आंकड़ा चाहिए होगा। वैसे एग्जिट पोल्स में अनुमान जताया गया था कि बिहार में तेजस्वी के नेतृत्व वाले गठबंधन की सरकार बनेगी। हालांकि, पूर्व में ऐसे पोल्स गलत भी साबित हुए हैं।

बिहार के पिछले चुनाव में क्या हुआ था?: 2015 के विस चुनाव में महागठबंधन में राजद, जदयू और कांग्रेस थे, जबकि एनडीए में भाजपा, लोजपा, रालोसपा और हम थे। सबसे अधिक सीटें तब राजद (80) को मिली थीं। वहीं, जदयू के खाते में 71 सीटें गई थीं। भाजपा के हिस्से में 53 तो कांग्रेस को 27 सीटों से संतोष करना पड़ा था।

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

x

Subscribe Now

You have successfully subscribed to the newsletter

There was an error while trying to send your request. Please try again.

ख़बर खर्ची will use the information you provide on this form to be in touch with you and to provide updates and marketing.