किसान यात्रा से पहले अखिलेश यादव हुए नजरबंद, आवास के बाहर भारी पुलिस फोर्स की तैनाती | ख़बर खर्ची

किसान यात्रा से पहले अखिलेश यादव हुए नजरबंद, आवास के बाहर भारी पुलिस फोर्स की तैनाती

farm bill, lucknow news, Kisan yatra,  लखनऊ न्यूज, किसान यात्रा, अखिलेश यादव, farmers protest, akhilesh yadav House arrest, akhilesh yadav,

केंद्र के कृषि कानूनों के लेकर चल रहे किसानों के आंदोलन के तहत 8 दिसंबर को भारत बंद करने वाले थे तो वहीं अखिलेश यादव किसाना यात्रा निकालने वाले थे। इससे पहले ही उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव को उनके आवास में नजरबंद कर दिया गया है। गौरतलब है कि अखिलेश यादव किसान यात्रा निकालने वाले थे। इसी को देखते हुए उनके घर के आसपास की सड़कों को बैरीकेडिंग के जरिए बंद कर दिया गया है। वहीं उनके आवास के बाहर भारी पुलिस फोर्स तैनात की गई है। सपा प्रमुख का आरोप है कि उन्हें इस यात्रा में शामिल होने से रोकने के लिए नजरबंद किया गया है।

बता दें, किसानों के समर्थन में अखिलेश यादव ने किसान यात्रा निकालने का ऐलान किया था। सोमवार को उन्होंने ट्वीट किया, ‘कदम-कदम बढ़ाए जा, दंभ का सर झुकाए जा। ये जंग है जमीन की, अपनी जान भी लगाए जा।’ अखिलेश यादव का घर लखनऊ के विक्रमादित्य मार्ग पर है। उनके घर के बाहर निकलने वाले हर बाहरी रास्ते पर पुलिस ने बैरीकेडिंग की है। यह बैरीकेडिंग भी डबल की गई है। उनके घर से लेकर पार्टी के प्रदेश कार्यालय तक इस तरह घेराबंदी की गई है कि वहां तक पहुंचना उनके लिए नामुमकिन है। इलाके में पुलिस कि लगातार गश्त जारी है।

Advertisement

अखिलेश यादव को नजर बंद किए जाने को लेकर सपा प्रवक्ता जूही सिंह ने राज्य सरकार पर जमकर हमला बोला है। जूही सिंह ने अपने एक ट्वीट में कहा, ‘श्रीकृष्ण तो न्याय का पर्याय हैं, बैरिकेटिंग, बलप्रयोग, सत्ता का दुरूपयोग कर के न तब बंधक बना पाए थे, न अब बना पाएंगे। उनकी (अखिलेश) सेना शांतिपूर्ण तरीके से अन्याय अराजकता के हर स्तंभ को ध्वस्त करेगी। अब रोक नहीं पाएंगे उनको।’

उधर, समाजवादी पार्टी ने ट्वीट किया, ‘BJP सरकार में किसानों से अन्याय एवं किसान विरोधी कानूनों के खिलाफ सपा की ‘किसान यात्रा’ से डरी सत्ता इसे रोकने के लिए समाजवादियों का दमन कर रही है। गैरकानूनी तरीके से पुलिस थानों में उन्हें बुला कर, घरों पर जा कर रोक रही है, घोर निंदनीय! किसान, नौजवान दंभी सत्ता को देंगे जवाब।’

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

x