Advertisement

अकेले अग्निवीर पूरी आर्मी कभी नहीं होंगे, Agnipath पर बोले अजीत डोभाल-रेजिमेंट की अवधारणा खत्म …

अग्निपथ योजना को लेकर हो रहे विरोध पर अजीत डोभाल ने कहा कि जहां तक रेजीमेंट का सवाल है, दो बातें समझने की जरूरत है। कोई भी रेजिमेंट की अवधारणा के साथ छेड़छाड़ नहीं कर रहा है

Advertisement
अग्निपथ को लेकर हो रहे विरोध पर अजीत डोभाल ने पहली बार अपनी प्रतिक्रिया दी है।

नई दिल्लीः सरकार की अग्निपथ योजना (Agnipath Scheme) को लेकर हो रहे विरोध के बीच राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (NSA) अजीत डोभाल (Ajit Doval) ने अग्निपथ की जरूरत पर बल दिया है। उन्होंने विरोध प्रदर्शन के दौरान आगजनी और सरकारी संपत्तियों को नुकसान पहुंचाने को लेकर सवाल कहा कि प्राथमिकी दर्ज, आरोपी की पहचान, उचित जांच के बाद हम कह सकते हैं कि इसके पीछे कौन बल थे। जांच होनी चाहिए और पूरी तरह से होनी चाहिए।

अग्निपथ योजना को लेकर हो रहे विरोध पर अजीत डोभाल ने कहा कि जहां तक रेजीमेंट का सवाल है, दो बातें समझने की जरूरत है। कोई भी रेजिमेंट की अवधारणा के साथ छेड़छाड़ नहीं कर रहा है … वे (रेजिमेंट) जारी रहेंगे … रेजिमेंटल सिस्टम खत्म नहीं हुआ है …।

Advertisement

अजीत डोभाल ने कहा, यहां इसे एक नजरिए से देखने की जरूरत है। अग्निपथ अपने आप में एक स्टैंडअलोन योजना नहीं है। 2014 में जब पीएम मोदी सत्ता में आए, तो उनकी प्रमुख प्राथमिकताओं में से एक भारत को सुरक्षित और मजबूत बनाना था। उन्होंने कहा, मोटे तौर पर, वे चार प्रमुखों के अंतर्गत आते हैं। इसके लिए उपकरणों की आवश्यकता होती है, इसके लिए प्रणालियों और संरचनाओं में परिवर्तन की आवश्यकता होती है, इसके लिए प्रौद्योगिकी में परिवर्तन की आवश्यकता होती है, इसके लिए जनशक्ति, नीतियों में परिवर्तन की आवश्यकता होती है और उन्हें भविष्यवादी होना चाहिए।

NSA अजीत डोभाल ने आगे कहा, पूरा युद्ध एक बड़े बदलाव के दौर से गुजर रहा है। हम संपर्क रहित युद्धों की ओर जा रहे हैं, और अदृश्य शत्रु के विरुद्ध युद्ध की ओर भी जा रहे हैं। तकनीक तेजी से आगे बढ़ रही है। अगर हमें कल की तैयारी करनी है, तो हमें बदलना होगा।

Advertisement

उन्होंने आगे कहा, सुरक्षा एक गतिशील अवधारणा है। यह स्थिर नहीं रह सकता, यह केवल उस वातावरण के संबंध में है जिसमें हमें अपने राष्ट्रीय हित और राष्ट्रीय संपत्ति की रक्षा करनी है। उन्होंने इस दौरान कहा कि रेजिमेंट की अवधारणा खत्म नहीं हो रही। अजीत डोभाल ने कहा, अकेले अग्निवीर (Agniveer) पूरी आर्मी कभी नहीं होंगे। वे केवल 4 साल के लिए भर्ती किए गए जवान होंगे। बाकी सेना का बड़ा हिस्सा अनुभवी लोगों का होगा। जो अग्निवीर नियमित होंगे (4 साल बाद) उन्हें घनिष्ठ ट्रेनिंग दी जाएगी।

Advertisement
ख़बर खर्ची

Share

Recent Posts

भाजपा का सिर शर्म से झुक जाना चाहिए, नुपुर शर्मा को लेकर न्यायालय की टिप्पणी पर कांग्रेस

पार्टी महासचिव जयराम रमेश ने एक बयान में यह भी कहा कि उच्चतम न्यायालय की…

2 months ago

आपको टीवी पर जाकर पूरे देश से माफी मांगनी चाहिए, नूपुर शर्मा को सुप्रीम कोर्ट की कड़ी फटकार

न्यायालय ने नुपुर शर्मा को अपनी इस टिप्पणी के लिए देश से माफी मांगने को…

2 months ago

Agnipath Scheme से दुनिया की सबसे बेहतरीन फौज दोयम दर्जे की हो जाएगी, पूर्व मेजर जनरल ने योजना को बताया त्रासदी

पी के सहगल ने सेना में नियुक्ति की नयी अल्पकालिक 'अग्निपथ योजना' को सेना के…

2 months ago

KGF Chapter 2 full movie leaked: यश स्टारर केजीएफ 2 को तमिलरॉकर्स ने किया लीक, ऐसे देखें HD वीडियो

श का स्वैग, प्रशांत नील का निर्देशन, ताली बजाने योग्य संवाद, आश्चर्यजनक एक्शन सेट-पीस और…

4 months ago

यूपीः महोबा के SBI की शाखा में लगी भीषण आग, तमाम दस्तावेज जलकर खाक

बैंक अधिकारी इस घटना की पड़ताल कर रहे हैं। सीओ ने बताया कि प्रथमदृष्टया ऐसा…

5 months ago